Skip to main content

About Me

I am an ex-Subedar Major, served 28 years in Army. Presently freelance Journalist and Social Worker. Running  NGO - UDDHAR since 2006

I have created this blog for the benefit of Dalit community.

We are trying to give all possible information about untouchables.

I requst all reader to submit any information known to you for the betterness of blog

Thanks.


email : dc40gahmari@yahoo.co.in

Popular posts from this blog

Chamar/Dalit SURNAME

Origins of the Chamar SurnameHistorically, surnames evolved as a way to sort people into groups - by occupation, place of origin, clan affiliation, patronage, parentage, adoption, and even physical characteristics (like red hair). Many of the modern surnames in the dictionary can be traced back to Britain and Ireland.There are no clear, concise answers to why or how one of your Chamar/Dalit ancestors took on the surname. It may have been based on their occupation or a distinguising physical trait. Keep in mind that it was not unusual for a last name to be altered as an ancestor entered a new country.Many of us still not bold enough to tell our caste to others, whereas most of our known are aware of our castes. I am one among them, many times I keep mum on the issue of castes. there are two reasons behind this , is  people attitude  towards chamar/dalit caste. Also, dalits are changing their surnames, so says a study by a senior official of Gujarat’s Social Welfare Department, highligh…

Origin of Chamar

चमारद्वीप यहाँ बहुत से लोग कहते है कि यह पेज जाति पर आधारित है.. सिर्फ चमारों के हित में सोचता है.. तो उन लोगों के लिए छोटी सी जानकारी यहाँ उपलब्ध करवाई जा रही है: सभी मूल निवासियों के इतिहास का अध्ययन करने से पता चलता है कि किसी समय एशिया महाद्वीप को चमारद्वीप कहा जाता था। जो बाद में जम्बारद्वीप के नाम से जाना गया और कालांतर में वही जम्बारद्वीप, जम्बूद्वीप के नाम से प्रसिद्ध हुआ था। चमारद्वीप की सीमाए बहुत विशाल थी। चमारद्वीप की सीमाए अफ्गानिस्तान से श्री लंका तक, ऑस्ट्रेलिया, प्रायदीप और दक्षिण अफ्रीका तक फैली हुई थी। 3200 ईसा पूर्व जब यूरेशियन चमारद्वीप पर आये तो देश का विघटन शुरू हुआ। क्योकि हर कोई अपने आप को युरेशियनों से बचाना चाहता था। जैसे जैसे देश का विघटन हुआ, बहुत से प्रदेश चमारद्वीप से अलग होते गए और चमारद्वीप का नाम बदलता गया। भारत के नामों का इतिहास कोई ज्यादा बड़ा नहीं है परन्तु हर मूल निवासी को इस इतिहास का पता होना बहुत जरुरी है, तो ईसा से 3200 साल पहले एशिया महाद्वीप का नाम चमारद्वीप था, यूरेशियन भारत में आये तो जम्बारद्वीप हो हो गया, 485 ईसवी तक भारत का नाम जम्बूद्वीप …

Dalit in Cricket

क्रिकेट











लेख सूचनाक्रिकेट पुस्तक नाम हिन्दी विश्वकोश खण्ड 3 पृष्ठ संख्या 200 भाषा हिन्दी देवनागरी संपादक सुधाकर पांडेय प्रकाशक नागरी प्रचारणी सभा वाराणसी मुद्रक नागरी मुद्रण वाराणसी संस्करण सन्‌ 1976 ईसवी उपलब्ध भारतडिस्कवरी पुस्तकालय कॉपीराइट सूचना नागरी प्रचारणी सभा वाराणसी लेख सम्पादक परमेश्वरीलाल गुप्त क्रिकेट एक अति प्रसिद्ध अंग्रेजी खेल। इस खेल का प्रचार 13 वीं शती में भी था, यह उस समय के एक चित्र को देखने से ज्ञात होता है। उसमें लड़के क्रिकेट खेल रहे हैं। 16वीं शताब्दी से तो निरंतर पुस्तकों में क्रिकेट की चर्चा प्राप्त होती है। कहा जाता है, इंग्लैंड का प्रसिद्ध शासक ऑलिवर क्रॉमवेल बचपन में क्रिकेट का खिलाड़ी था।
क्रिकेट का पुराना खेल आधुनिक खेल से भिन्न था। प्रारंभ में भेंड चरानेवाले लड़के क्रिकेट खेला करते थे। वे पेड़ की एक शाखा काटकर उसका बल्ला बना लेते थे, जो आजकल की हॉकी स्टिक से मिलता जुलता था। वे कटे हुए किसी पेड़ के तने (stump) के सामने खड़े होकर खेलते थे या अपने घर के छोटे फाटक (wicket gate) को आउट बना लेते थे। आजकल के क्रिकेट में न तो पेड़ के तने (stump) हैं और…